Delhi ncr ka full form क्या है? ncr full form कैसे बना, पूरी जानकारी हिंदी में।

नमस्कार दोस्तों क्या आप जानते है, Delhi ncr ka full form क्या है? और ncr full form कैसे बना, यदि आप नही जानते तो चिंता मत किजिये, आज हम (ncr full form in hindi) एनसीआर के फुल फॉर्म के बारे में आपको जानकारी देने वाले है।

अपने कभी ना कभी NCR delhi का नाम तो सुना ही होगा, लेकिन आप में कई लोग ऐसे भी है, जो NCR Full Form, NCR क्या है नहीं जानते होंगे, इसलिए आज हम अपने All hindi tips by pawan ब्लॉग के माध्यम से आप सभी को ncr full form in hindi के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में देने वाला हूँ।

इसलिए आप इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़े, इसके अलावा हम और भी हिंदी जगत की जानकारी अपने इस ब्लॉग के द्वारा आप सभी के साथ साझा करने वाले है।

क्या आप जानते है, दिल्ली एनसीआर के अंतर्गत कितने शहर आते है, और सरकार की नजरो में यह शहर विकास के मामले में सबसे आगे रहते है, यदि आपको NCR Full Form in Hindi के बारे नही पता है, तो आपको इसके बारे में पता होना चाहिए, आईये ncr full form के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी क्या है, इसके बारे में जानते है-

 

Delhi ncr full form in hindi- एनसीआर के फुल फॉर्म के बारे में जानकारी-

वैसे तो ncr ki full form कई सारी है, लेकिन हम सबसे पहले delhi ncr की रियल फुल फॉर्म के बारे में जान लेते है, इसके बाद हम एनसीआर की दुसरे फुल फॉर्म के बारे में जानेंगे।

delhi ncr full form:- “National Capital Region” होता है हिंदी में एनसीआर को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र भी कहा जाता है।

यह एक भारत का सबसे बड़ा बड़ा महानगरीय छेत्र है, और इसके पडोसी राज्य हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश के कई जिले इसमें शामिल है, इसलिए इसे एनसीआर का नाम दिया गया है।

 

ncr-full-form-in-hindi

 

आईये जानते है, ncr की अन्य full form के बारे में-

1-  No Carbon Required
2- Numerical Character Reference
3- National Cash Register
4-  National Council of Residences
5-  National credit regulator

 

दिल्ली एनसीआर क्या होता है?  (full form of ncr delhi)

जैसा की नाम से ही समझ में आ रहा है की यह एक राष्ट्रिय राजधानी छेत्र वाला शहर है, और यह एक महानगरीय छेत्र के अंतर्गत आता है, तथा इसी के अन्दर हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कुछ राज्य आते है, ncr के अन्दर वह सभी छेत्र आते है, जिसको  राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र योजना बोर्ड अधिनियम 1985 के तहत बनाया गया था, और इसके पडोसी राज्यों के शहरों को शामिल किया गया था।

यदि delhi ncr की बात की जाए, तो आप सभी को इसके बारे में अच्छे से पता होना चाहिए, जैसे- delhi ncr हमारे भारत देश का National Capital समूह है। तथा देश की राजधानी होने के कारण दिल्ली में दुसरे राज्यों की तुलना में ज्यादा विकास किये जाते है।

यही कारण है, की दिल्ली में काफी लोग दुसरे राज्यों से रोजगार के लिए काफी मात्रा में आते  है, जिससे दिल्ली राज्य की जनसँख्या काफी तेजी से बढती जा रही है, और यही मुख्य कारण है, कि दिल्ली में रह रहे लोगो को प्रदुषण का सामना करना पड़ता है, जिससे दिल्ली में लोग अधिक बीमार पड़ते है, तथा इसी कारणों की वजह से दिल्ली में सबसे अधिक मात्रा में आन्दोलन होते है।

 

delhi ncr में आने वाले छेत्रो के नाम-

हमने इसके बारे में अभी-अभी ऊपर बात की है, कि दिल्ली एनसीआर भारत का एक सबसे बड़ा समूह है, जिसके अन्दर कुछ शहरी छेत्र व कुछ ग्रामीण  छेत्र आते है, इसे आप आम भाषा में शहरी ग्रामीण बोल सकते है।

भारत के अन्दर कई लोग ऐसे जो अभी भी ncr full form के बारे में नहीं जानते होंगे, लेकिन delhi ncr के अंतर्गत कितने शहरी छेत्र व ग्रामीण छेत्र आते है, उन्हें इसके बारे में भी नही पता होगा, आईये इसके बारे में, मै आप सभी को जानकारी देता हूँ, ताकि जब भी कोई आपसे ncr full form तथा एनसीआर के अंतर्गत आने वाले छेत्रो के नाम के बारे में पूछे तो आप आसानी से बता सके।

 

हरियाणा के अंतर्गत एनसीआर में आने वाले शहरो के नाम-

1- फरीदाबाद
2- भिवानी
3- पानीपत
4- झज्जर
5- गुड़गांव
6- रेवाड़ी
7- महेंद्रगढ़
8- रोहतक
9- सोनीपत
10- मेवात
11- नूह
12- करनाल
13- पलवल
14- जींद
15- गुडगाव

 

राजस्थान के अंतर्गत एनसीआर में आने वाले शहरो के नाम-

1- भरतपुर
2- अलवाड

 

 

उत्तर प्रदेश के अंतर्गत एनसीआर में आने वाले शहरो के नाम-

1- गाजियाबाद
2- हापुड़
3- मेरठ
4- शामली
5- मुज्जफरनगर
6- बागपत
7- बुलंदशहर
8- गौतम बुद्ध नगर

 

नोट- हमने ऊपर दिए गए चार्ट के माध्यम से 24 शहरों व जिलो के नाम आप सभी को बताये है, जो दिल्ली एनसीआर के अंतर्गत आते है।

 

इनके बारे में भी पढ़े- 

 

NCR क्यों बना, इसका उद्देश्य क्या है?

आईये जानते है, दिल्ली में एनसीआर क्यों बना, वैसे तो दिल्ली में एनसीआर बनने के कई कारण है, जिसमे से एक दिल्ली की आबादी है, भारत की राजधानी होने के कारण यहाँ पर देश भर से लोग नौकरी के लिए आने लगे थे, जिससे दिल्ली की आबादी बढ़ने लगी, और जनसँख्या की तुलना में दिल्ली का छेत्रफल कम पड़ने लगा, इसलिए इन शहरों को मिलाकर दिल्ली एनसीआर का निर्माण किया गया है।

आईये जानते एनसीआर का मुख्य उद्देश्य क्या है- दिल्ली में एनसीआर का मुख्य उद्देश्य इन छेत्रो का विकास करना है, जो एनसीआर के अंतर्गत आते है, इसके आलावा कई ऐसे कार्य है, जो एनसीआर का मुख्य उद्देश्य है, आईये इनके बारे में जानते है।

एनसीआर के अंतर्गत आने वाले छेत्रो पर केंद्र सरकार व राज्य सरकार का विशेष रूप से ध्यान रहता है, क्योकि इन्हें दिल्ली एनसीआर के तहत शामिल किया गया है, इसलिए इस शहरों व राज्यों में विकास अधिक होता है, भारत में सबसे पहले मेट्रो को सुविधा दिल्ली में शुरू की गयी।

ताकि यहाँ पर लोग अपने रोजमर्रा की जिंदगी में रोजगार करके अपना जीवन यापन कर सके, और यहाँ की सरकार निरंतर प्रयास कर रही है, कि एनसीआर के अंतर्गत आने वाले शहरो व जिलो को कैसे लाभ पहुचाया जाए. यही दिल्ली एनसीआर का मुख्य उद्देश्य है।

 

FAQ’s by ncr full form in hindi?

  1. एनसीआर का फुल फॉर्म क्या है?

    Ans- एनसीआर की फुल फॉर्म National Capital Region है.

  2. दिल्ली एनसीआर क्या है?

    Ans- दिल्ली एनसीआर के अंतर्गत आस-पास के कई शहर व जिलो को शमिल किया गया है, जिससे दिल्ली के छेत्रफल को बढाया जा सके.

  3. दिल्ली एनसीआर का उद्देश्य क्या है?

    Ans- दिल्ली में शामिल एनसीआर शहरों व जिलो का निर्माण करना, तथा एनसीआर का उद्देश्य इसके अंतर्गत आने वाले छेत्रो का विकास करना है.

अंतिम शब्द-

आज हमने इस लेख के माध्यम से आप सभी को NCR kya hai, delhi ncr Full Form in hindi तथा एनसीआर के अंतर्गत कौन से शहर शामिल है, और एनसीआर से जुडी सभी प्रकार की जानकारी देने की कोशिश हैं। मुझे आशा है, की आप सभी को इस जानकारी से बहुत कुछ सिखने को मिलेगा, इस तरह की जानकारी पाने के लिए हमारे ब्लॉग www.visiontechindia.com को बूकमार्क करना ना भूले, क्योंकि यहाँ पर हिंदी से जुडी सारी जानकारी सरल भाषा में शेयर की जाती है।

4.6/5 - (283 votes)

Share this content

Leave a Comment

error: Content is protected !!