Ramayan ke rachayita kaun hai। जाने 2023 में सही जवाब।

क्या किसी को आज के समय में ramayan ke rachayita kaun hai इसके बारे में पता है, यदि नही तो बने रहिये हमारे इस लेख के अंत तक क्योकि यहाँ पर हम ramayan ke rachayita kaun hai और रामायण किसने लिखी थी, इसके बारे में विस्तार से जानकरी देने वाले है।

जो लोग भगवान् पर विश्वास करते है, उन्हें अच्छे से पता होगा, कि रामायण क्या है, और इसे किसने लिखी थी, जिस तरह हर एक धर्म में कोइ न कोई एक किताब होती है, जो उस धर्म के लोगो के लिए काफी ख़ास होती है. उसी तरह हिन्दू धर्म में रामायण है, आईये जानते है, रामायण के रचईता कौन है।

Ramayan ke rachayita kaun hai। रामायण किसने लिखी है।

रामायण ऋषि वाल्मीकि द्वारा लिखी गई थी, जिन्हें आज भी संस्कृत साहित्य में पहला कवि या आदि कवि माना जाता है। रामायण उनकी महान रचना है और भारत के सबसे महत्वपूर्ण प्राचीन ग्रंथों में से एक है।

हिंदू परंपरा के अनुसार, देवता नारद ने वाल्मीकि से संपर्क किया और उनसे एक कविता लिखने के लिए कहा, जो भगवान विष्णु के अवतार राम के जीवन की कहानी के आधार पर थी। तब ऋषि ने चुनौती ली और रामायण लिखी, जो हिंदू धर्म में सबसे प्रतिष्ठित ग्रंथों में से एक बन गई।

रामायण कि लोकप्रियता व प्रभाव-

अपने मूल प्रसारण के दौरान, रामायण अप्रत्याशित रूप से लोकप्रिय था, जिसके लगभग 10 करोड़ भी ज्यादा दर्शक थे। प्रारम्भ में कुछ कम लोकप्रियता के साथ लेकिन बाद में इस धारावाहिक की लोकप्रियता उस स्तर तक पहुँच गई जहाँ पर सम्पूर्ण भारत एक आभासी ठहराव में आ जाता था और प्रत्येक व्यक्ति जिसकी टीवी तक पहुँच थी। 

अपना सब कामकाज छोड़कर इस धारावाहिक को देखने के लिए रुक जाता था। इस दृग्विषय को जिसे समाचारपत्रिका इण्डिया टुडे ने “रामायण फ़ीवर” का नाम दिया, सभी धार्मिक क्रियाकलापों (हिन्दू और अहिन्दू) को पुनर्नियत किया गया ताकी लोग इस धारावाहिक को देख सकें।

रेलगाडियाँ, बसें और नगर-भीतरीय ट्रक इत्यादि इस धारावाहिक के प्रसारण के दौरान लोग रुक जाते थे, और ग्रामों में बड़ी संख्या में लोग एक टीवी के सामने इसे देखने के लिए एकत्रित होते थे।

इनके बारे में भी पढ़े- 

ramayan-ke-rachayita-kaun-hai

क्या रामायण के लेखक- वाल्मिकी डाकू थे? (Ramayan Ke Rachyita- Valmiki)

यह बात भी हिंदू धर्म में प्रचलित है कि महर्षि वाल्मीकि एक समय में डाकू हुआ करते थे। जी हां, वाल्मीकि भगवान कश्यप और अदिति के प्रपौत्र थे। इनके पिता का नाम प्रचेतस था। 

एक समय की बात है। बाल्यकाल में इनको कोई भील चुरा कर ले गया था। जिसके फलस्वरूप आगे चलकर वाल्मीकि का पालन पोषण उस भील ने ही किया। भील एक प्रकार की डाकू जाति होती है। 

महर्षि बाल्मीकि कौन थे –

महर्षि वाल्मीकि, इन्हें वाल्मीकि के नाम से भी जाना जाता है, यह एक ऋषि और रामायण के लेखक थे, जो प्राचीन भारत के दो प्रमुख संस्कृत महाकाव्यों में से एक है, दूसरा महाभारत है।

हिन्दू परम्परा के अनुसार उन्हें संस्कृत साहित्य का प्रथम कवि या आदि कवि माना जाता है। रामायण भगवान विष्णु के अवतार राजकुमार राम की कहानी और वानर-देवता हनुमान की मदद से अपनी पत्नी सीता को राक्षस राजा रावण से बचाने की उनकी खोज को बताती है।

महर्षि वाल्मीकि को भी सात चिरंजीवियों में से एक माना जाता है, जो हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार अमर प्राणी हैं। महर्षि वाल्मीकि के जीवन से जुड़ी कई किंवदंतियां और कहानियां हैं।

जिनमें से कुछ का कहना है कि वह अपने पिछले जन्म में एक डाकू था जो बाद में एक ऋषि में बदल गया, और कुछ का कहना है कि वह एक ऋषि के रूप में पैदा हुआ था। वाल्मीकि राम और सीता के जुड़वां पुत्र लव और कुश के आध्यात्मिक गुरु भी हैं।

वाल्मीकि ने रामायण की रचना कैंसे की। (Ramayan Ki Rachna)

एक बार की बात है भगवान वाल्मीकि ने किसी शिकारी को प्रेम में मग्न किसी युगल क्रौंच पक्षी का वध करते हुए देखा। पक्षी का वध देखकर वाल्मीकि जी को दुख होने लगा और उनके अंदर करुणा  फूटने लगी। अचानक से भगवान वाल्मीकि के मुख से एक श्लोक निकल पड़ा।

मा निषाद प्रतिष्ठा त्वमगमः शाश्वती समाः।

यत्क्रौंचमिथुमादेकम् अवधीः काममोहितम्।।

बस फिर क्या था इसी श्लोक से पूरी रामायण की रचना हो गयी। कहा जाता है कि यही रामायण की रचना के समय पहला श्लोक था।

वाल्मीकि ने संस्कृत के इस लोक से शिकारी को कहा कि तुम जिस प्रकार से इन क्रौंचपक्षी को मार रहे हो इसी प्रकार से तुम भी एक दिन दुख पाओगे। रामायण की रचना के विषय को लेकर हिंदू धर्म में यह किंवदंती काफी प्रसिद्ध है। इस प्रकार वाल्मीकि ने रामायण की रचना की।

और पढ़े- 

रामायण से सम्बंधित पूछे जाने वाले प्रश्न-

  • रामायण किसने लिखी थी?

    Ans- रामायण ऋषि वाल्मीकि द्वारा लिखी गई थी।

  • संस्कृत रामायण के लेखक कौन है?

    Ans– संस्कृत रामायण के लेखक ऋषि वाल्मीकि जी है।

  • रामचरितमानस के लेखक कौन है?

    Ans- रामचरित मानस के लेखक गोस्वामी तुलसीदास है।

  • रामायण कब और किसने लिखी थी?

    Ans- महाकाव्य रामायण को 600 ई.पू. से पहले लिखा था, और इसे महर्षि वाल्मीकि द्वारा संस्कृत में लिखा गया था।

निष्कर्ष- आज हमने क्या सिखा-

आज के इस आर्टिकल में हमने Ramayan ke rachayita kaun hai, और रामायण को किसने लिखी थी, इसके बारे में जानकारी दी है।

यदि आपको इस लेख से कुछ नया सिखने को मिला है, तो इस लेख को अपने दोस्तों व अपने सोशल मिडिया अकाउंट पर जरुर शेयर करे, और ऐसी ही इंट्रेस्टिंग जानकारी कि सूचना पाने के लिए हमारे ब्लॉग को बुकमार्क करना ना भूले धन्यवाद।

4.5/5 - (46 votes)

Share this content

Pawan Yadav

मेरा नाम पवन है, मै visiontechindia.com वेबसाइट का फाउन्डर हूँ, मेरे द्वारा बनायीं गयी यह एक ऐसी हिंदी वेबसाइट है, जहाँ पर बिज़नेस आईडिया, टेक्नोलॉजी, एजुकेशन, GK और ऑनलाइन पैसे कमाने से सम्बंधित जानकारी शेयर की जाती हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!